Why Start a Blog for Free in Hindi?

Sharing is caring!

starting a blog for free

लिखने की वजह सबका एक जैसा नही हो सकता है। 

सबके पास अलग-अलग कारण हो सकते इसलिए यह तो उसे ही decide करना होगा कि आखिर वह blog क्यों लिखना चाहता है। 

पर यहाँ में ऐसे कारण को describe करूँगा जो आपको blog start करने में मदद कर सकता है। 

Not Inserted in Job

कुछ को जॉब करना बहुत पसंद है खासकर अच्छा सैलरी वाला क्योंकि उसे लगता है इससे अच्छा कमाई होगा। 

इसके लिए वह हमेशा गवर्नमेंट जॉब को पसंद करता है, तो कोई प्राइवेट जॉब क्योंकि यहाँ उतना कम्पटीशन नहीं है जितना कि sarkari jobs में है। 

लेकिन कुछ को दोनों ही पसंद नहीं आते है। 

वजह?

  • हर रोज एक ख़ास टाइम बोरिंग जगह में spend करना पड़ता है जबकि वह पसंद भी नहीं है।
  • सरकारी नौकरी के लिए जहाँ सालो मेहनत करनी पडती है पर जल्दी से नौकरी नहीं मिल पता है।
  • प्राइवेट नौकरी जल्दी मिल तो जाता है पर सैलरी sufficent नहीं होता है।
  • हिस्ट्री पसंद नहीं है पर पढ़ना पड़ता है, गणित के सवालों से परेशान रहते है और हर रोज उत्पन्न होने वाला gk का कोई ठिकाना नहीं है।
  • घर पटना होता है, रहना चाहते है गंगटोक में, पर नौकरी के चक्कर में बेंगलुरु जाना पड़ता है।
  • काम पसंद नहीं आता है पर मजबूरी मे करना ही पड़ता है।
  • प्राइवेट तो ठीक है पर एक बार सरकारी नौकरी लग जाने पर ना निगल सकते है और ना उगल।
  • खुद के लिए समय नहीं निकाल पाते है और बहुत से शौक पीछे छुट जाते है।
  • आपके गुस्से और निराशा आप पर ही हावी हो जाता है।
  • आप खुद को नेगेटिव लेना शुरू कर देते है।

Own Business 

कुछ नौकरी के विकल्प के रूप में खुद का कारोबार करना पसंद करते है क्योंकि यहाँ सब आपके हाथ मे ही होता है।

साथ ही यहाँ कमाई भी अधिक होने का सम्भावना है।  

पर इसके भी कुछ नुकसान है जो आपको यह पसंद नहीं कर पाने का वजह बन सकता है:

  • यहाँ पर काम करने का कोई लिमिट नहीं होता है आपको चौबीस घंटे खुद के कारोबार को बढ़ाने के लिए प्रयास करना पड़ता है।
  • अनुभव नहीं होने से कई बार घाटा लग घाटा है और काम को समझने में कई साल लग जाता है।
  • Market में कम्पटीशन अधिक होता है और आपको कम समय और कम खर्च में अच्छा प्रोडक्ट बनाने का दवाब रहता है।
  • बार-बार नुकसान होने से आप उबर नही पाते है और अवसाद में चले जाते है।
  • कारोबार को शुरू करने के लिए बहुत-सा सरकारी कागज़ बनवाना पड़ता है। देश के वर्तमान मंत्री निर्मला सीतारमण का तो यहाँ तक कहना है “ठेका खोलना आसान है पर रेस्टुरेंट नहीं”।
  • पर blog का अपना मजा है क्योंकि यहाँ पर कोई दवाब नहीं है पर कम्पटीशन और मेहनत यहाँ पर भी बहुत है। 

Best Reason for Starting Blog

Blog start करने के लिए आपके पास बहुत कारण हो सकते है-

  • नो टाइम लिमिट: यहाँ पर काम करने कोई कोई समय निर्धारित नहीं है। आप 24 घंटे भी काम कर सकते है और 24 मिनट भी।
  • आप किताबें और इन्फोर्मटिव आर्टिकल लिखना चाहते है और इस काम के बदले अच्छा कमाई भी कर सकते है।
  • यहाँ पर कोई फिजिकल कम्पटीशन नहीं होता है इसलिए आप कम दवाब महसूस करते है।
  • यहाँ आप जितना मेहनत करते है कमाई भी उतना ही होता है
  • इंटरनेट के ख़ास तबके तक आपका कनेक्शन बनता है।
  • आप इस काम को कहीं घर, ऑफिस, पार्क कहीं भी कर सकते है।
  • आप इंटरनेट होने का गजब फायदा उठाते है और इंटरनेट से आपका रिश्ता खास हो जाता है।
  • आप money के वैल्यू को समझने लगते है क्योंकि यहाँ से एक पैसा भी झोल करके नहीं कमाया जा सकता है।

पर समस्या यहाँ भी बहुत ज्यादा है:

  • आप हर रोज रिसर्च करते, आर्टिकल लिखते और पब्लिश करते है, पर कई महीनों तक आपका कोई पोस्ट रैंक नहीं करता है।
  • लगातार आप डोमेन, होस्टिंग, बाकि के सर्विसेज के लिए पेमेंट करते रहते है, पर फायदा नजर नहीं आता है।
  • किसी के फर्जी अर्निंग और किसी असली अर्निंग को देखकर आप decide नहीं कर पाते है कि ब्लॉग लिखना जारी रखे या बंद कर दे।
  • कई बार आपका whole blog गलती से डिलीट हो जाता है या आप सही समय में पेमेंट नहीं कर पाने के कारण आपके ब्लॉग को एडमिन रिमूव कर देता है।
  • शुरुआत में आप लगातार पोस्ट लिखते है, पर कुछ दिनों बाद कंटेंट की कमी हो जाता है।
  • आप ज्यादा रिसर्च करते है और आपके पास कंटेंट की भरमार हो जाता है और आप यह तय नहीं कर पाते है कि कौन-से पोस्ट को लिखें और किसे छोड़े।
  • आप blogging के बेसिक को सही तरीके से observed नहीं कर पाते और सालो तक छोटी गलती के वजह से आप अपने मेहनत से कुछ नहीं हासिल कर पाते है।

तो यह सब था कुछ ब्लॉग के cons and pros.

अब आते है ब्लॉगर जो ब्लॉग लिखने का काम करता है और इसके बहुत से टाइप्स होते है, मतलब इसके काम करने का स्टाइल:

  • कुछ ब्लॉगर सिर्फ ब्लॉग लिखते रहते है।
  • कुछ ब्लॉगर बस रिसर्च करते रहते है, पर आर्टिकल नहीं लिखते है।
  • कुछ ब्लॉग तो खुद शुरू करते है, पर पोस्ट लिखने के लिए राइटर रख लेते है।
  • कुछ अपने निजी अनुभव से आर्टिकल लिखते है।
  • कुछ रिसर्च करते है और फिर पोस्ट लिखते है।
  • कुछ एक दिन में तीन पोस्ट पब्लिश करते है। 
  • कुछ एक महीना में एक पोस्ट और कुछ वह महीना भी मिस करते है।
  • कुछ अपने अनुभव से सीखते है, रिसर्च करते है फिर पोस्ट लिखते है। यह मुझे बहुत पसंद है जैसे- Brain Dead।

My Advice 

अगर आप ब्लॉग लिखना चाहते है और इसी से कमाई करना चाहते है, तो इसमें आपको बहुत time देना होगा। 

अगर आपके पास कोई काम नहीं है जिससे की blogging का खर्च उठाया जा सके, तो आप कहीं पर भी part time job कर ले जो चार से छह घंटे से अधिक ना होना चाहिए। 

वरना आप अपने ब्लॉग को सही समय नहीं दे पाएंगे, full time job तो बिलकुल नहीं करें वरना आप फंस जाएंगे। 

काम के दौरान खुद को ऊर्जावान रखे और बाकि के फालतू कामो को अवॉयड करें और एकदम शांत होकर full dedication के साथ काम करें। 

जल्दी बाजी से बचे यही ब्लॉग का सबसे बड़ा और ख़तरनाक दुश्मन है जो आपको कभी खुद पर विश्वास करने से रोकेगा। 

पोस्ट को लिखते समय सारे मसाले एक्सपीरियंस, रिसर्च, ट्रिक्स, इमोशन और रिफरेन्स को भी सही तरीके से शामिल करें। 

Conclusion 

सबसे बड़ी बात यह काम आपने खुद को सुन के शुरू किया है और अंदर की आवाज, बाकि सब आवाज से ज्यादा स्पष्ट होता है।

यह आपका फैसला है, भ्रम तोड़े और आगे बढे।

इस दुनिया में ना कुछ सही है और ना कुछ गलत यह आप पर निर्भर करता है चीजों को साबित आप क्या करते है। आप गलत साबित करेंगे वह गलत होगा और सही साबित करेंगे तो सही होगा। 

 


Saroj Alam

हलो, मैं सरोज आलम, www.broodhome.com का चीफ एडिटर और फाउंडर। As a beginners मैं परेशान था, आखिर मैं किस टॉपिक पर ब्लॉग लिखूं, पर लिखते लिखते आखिर में सही जगह पहुंच ही गया। इस ब्लॉग पर में खिचड़ी नहीं परोसना चाहता हूं, इसलिए बस Blogging, Money Making आइडिया और Hosting से जुड़े पोस्ट ही पब्लिश करना पसंद करता हूं। I'm not perfect, but try to gives you best Today & Tommorow.

Sharing is caring!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: