How Long Tail Keyword Can Increase Your Profit During Blogging

Sharing is caring!

uses of long tail keywords

शुरुआत में मैंने जब ब्लॉग्गिंग start किया था, तब मैं keywords uses के बारे में जानता तो था, पर हमेशा ignore करता था, जिस वजह से बहुत सारे ब्लॉग बनाये, पर सबसेकेसब Out Of Rank हो गए.

ब्लॉग्गिंग के दौरान बहुत सारे blog बनाए और बहुत सारे बंद भी कर दिए, वजह keywords को कभी ठीक से apply नहीं किया.

keywords किसी भी वेबसाइट और ब्लॉग की जान होती है, इसी के अंदर इतनी क्षमता होती ही लाखों traffic को आपके ब्लॉग पर drive कर पाने का. अगर आपके ब्लॉग पर लाखों visitors drive कर रहे है, तो इसका सीधा मतलब है आपका मेहनत को कीवर्ड साकार कर रहा है.

अगर आप भी चाहते है कि आपका ब्लॉग भी search engine में पहले page पर दिखे, तो इस Factor को कभी भी नजरअंदाज़ नहीं कर चाहिए है.

अब सवाल है किसी भी कीवर्ड को कहाँकहाँ इस्तेमाल किया जा सकता है, इसी का तो, मैं जवाब देने जा रहा हूँ और इसके लिए बहुत सारे ब्लॉग को पढ़ा, खासकर English Post को और बहुतसे Keywords Planning Site को भी कई बार विजिट किया.

Meta Name and Description

किसी भी keywords को सबसे पहले meta name और उसके description पर ही सबसे पहले place करना चाहिए. मेटा name को 580 pixels औरexplain 1000 pixels तक लिखा जा सकता है, तो इस तरह से दोनों जगह काफी है एकदो कीवर्ड इस्तेमाल करने के लिए.

दरअसल keywords नई नहीं है, बल्कि यह एक फोकस वर्ड्स मात्र है, जिस टॉपिक्स पर आप अपने ब्लॉग को लिखते है और आपके पोस्ट में भी इसी तरह के फोकस कीवर्ड यूज़ करना चाहिए.

इसे एक उदहारण से समझते है Top 10 Tourist Place in India 2019. गौर करने वाली बात यहाँ यह है कि इसमें मेरा फोकस अलग हो सकता है और आपका अलग. जैसे मैं अगर tourist trip पर ब्लॉग लिखता हूँ, तब मेरे लिए keywords होगा Tourist Place या Tourist Place in India. तो आप आसानी से समझ सकते है आपका कीवर्ड क्या होगा.

सबसे पहले तो आपके ब्लॉग का niche स्पष्ट होना चाहिए और आप जिस post पर भी ब्लॉग लिख रहे है, उससे सम्बंधित keyword को पहले से ही प्लानिंग कर लेना चाहिए, ताकि यह अच्छे तरह से visitors को किसी ब्लॉग या सिंगल पोस्ट पर ड्राइव कर सके.

आपका ब्लॉग का meta name और description सही है या नहीं इसके लिए www.seobility.net site का सहारा लिया जा सकता है. यह बहुत बेहतरीन साईट है, क्योंकि बहुत सारे इसी के तरह service देने वाली साईट कुछकुछ चार्ज जरुर करती है और ना भी करती है तो आपके साईट registration के लिए कहती है.

पर यहाँ दोनों में से कुछ नहीं करना पड़ता है, बस अपने डोमेन या यूआरएल को paste कर चेक कर सकते है.

First to Third Heading Name

किसी भी पोस्ट का टाइटल दरअसल H1 ही होता है, अगर आपको इस बात में कोई शक है, तो इसे पेज सोर्स को खोल के देखा भी जा सकता है.
इसे ऐसे भी चेक कर सकते है
WordPress >> Appearance >> Customized >> Add CSS
h1 { font-size:30pt }
इस कोड को टाइप कर पब्लिश कर दे और अपने सारे पोस्ट को खोल कर देखे, सारे पोस्ट का टाइटल आपको change दिखेगा.

कीवर्ड को पोस्ट के टाइटल नाम और h2 से h6 heading तक यूज़ कर सकते है और पर ज्यादा इसे यूज़ करने के चक्कर में Keyword Stuffing का भी खतरा होता है, तो इसलिए इसे h1 से लेकर h3 तक इस्तेमाल करना समझदारी का फैसला हो सकता है.

post title को पांचछह वर्ड्स लिखने के बजाये, इसे दस वर्ड्स तक लिखे और इसे कमसेकम 1 keywords को प्लेस जरुर करे. इसके अलावा heading को भी useful करने के लिए keyword को सही जगह यूज़ करना चाहिए.

गूगल रिसर्च कहता है, जो टाइटल 50-60 characters के भीतर होता है, वह सबसे पहले रैंक करता है.

अगर आपका कोई कंपनी है, तो इसमें ब्रांड भी जोड़ा जा सकता है.

Primary Keyword | Secondary Keyword | Brand Name

First 100-150 Words

यहाँ पर keywords इस्तेमाल करने के लिए बहुत बेहतर तरीका है, क्योंकि यहाँ आपको ज्यादा space मिलता है ज्यादासेज्यादा keywords को इस्तेमाल करने के लिए. अपने ब्लॉग के introduction को 100-150 वर्ड्स में लिख सकते है और उसी दौरान कीवर्ड भी add कर सकते है.

सबसे पहले तो अपने पोस्ट से रिलेटेड सही keywords को google adverts planner या किसी और वेबसाइट से चुने, फिर इसे सही से पोस्ट के intro में जोड़े, इसे इस तरह से जोड़े ताकि लाइन पढ़ने में भी अच्छा लगे और keywords का भी काम हो जाएँ.

Use in Permalink

इसे post के permalink में भी use किया जा सकता है, permalink को एडिट करे और कीवर्ड को वहां सही तरीके से प्लेस करे. keyword को use करने के चक्कर में लिंक ज्यादा लम्बा न हो जाये, इसलिए एक या दो ही इस्तेमाल करे.

अगर आपने अपने पोस्ट का permalink को दोबारा एडिट किया है, तो इसके पहले के pageview को आप खो देंगे, इसके लिए आप custom 301 redirection का इस्तेमाल करके परमानेंट रूप से redirect कर सकते है. अगर 302 redirection का यूज़ करके temporary redirect किया जा सकता है.

अपने permalink को best link shorter website 2019 के द्वारा छोटा भी कर सकते है और यह professional भी दिखेगा.

कुछ link shorting website list नीचे दिया जा रहा है, जिसका इस्तेमाल किसी पर्मालिंक को small करने के लिए किया जा सकता है

Use In Media File

आपने पोस्ट एकदम भड़कदार लिखा लिखते समय डेस्कटॉप और मोबाइल दोनों को ध्यान में रखा, पोस्ट में internal और external लिंक को भी सही use किया, पर अगर एक भी मीडिया फाइल नहीं है, तो पोस्ट का कोई मतलब नहीं बनता है, क्योंकि text के बाद image या video ही किसी पोस्ट का जान होता है.

post का length और आवश्यकता अनुसार मीडिया फाइल को जोड़े, ज्यादा पोस्ट और post के subject के विपरीत इस्तेमाल करने से पोस्ट useless हो जाता है.

मीडिया फाइल को search engine में index करने के लिए, इसमें alt tag alternative tag को mention करे. इस tag में short और long दोनों description लिखा जा सकता है और इसे भी पोस्ट के अनुसार ही लिखे.

इसके अलावा इमेज caption भी mention किया जा सकता है, इसमें किसी copyright image या video के original source को भी स्थान दिया जा सकता है.

Internal and External Link

अगर आप इन दोनों के बारे में नहीं जानते है, तो इसे simple भाषा में समझ सकते है, किसी पोस्ट को लिखते समय.

  • Internal Link जब अपने किसी और पोस्ट का लिंक अपने current पोस्ट में देते है, तो यह internal linking कहलाता है.

  • External Linkऔर जब किसी बाहरी blog website के link अपने पोस्ट में देते है, तब इसे external लिंक कहते है.

तो दोनों में से किसी भी लिंक को इस्तेमाल करने के दरम्यान keyword का इस्तेमाल किया जा सकता है, पर इस बात का ध्यान रहे इंटरनल या एक्सटर्नल पोस्ट भी current पोस्ट के ही समरूप होना चाहिए, तभी कीवर्ड का सही इस्तेमाल हो सकेगा. इसमें एक या दो कीवर्ड का इस्तेमाल हो सके।

Anchor Text

अगर आप भी परेशान है, कि Anchor Text क्या होता है, तो मेरे पिछले पोस्ट को देखा और समझा जा सकता है, जहाँ मैंने इसे आसानसी भाषा में समझाने की कोशिश की है. जिसका लिंक में अगले लिंक पर दिया है.

https://broodhome.com/how-to-minimized-long-contents-using-anchor-tags/

एंकर टेक्स्ट लगभग एक लाइन में ही लिखा जाता है, जहाँ आप एक कीवर्ड का इस्तेमाल तो कर ही सकते है.

निष्कर्ष – तो keywords से related पोस्ट आपको कैसा लगा, हमें जरुर बताएँ. अगर आपको यह पोस्ट पसंद आए या कोई शंका आपके दिमाग में है, तो हमें कमेंट करे. इसे like तथा share भी करे.


Saroj Alam

हलो, मैं सरोज आलम, www.broodhome.com का चीफ एडिटर और फाउंडर। As a beginners मैं परेशान था, आखिर मैं किस टॉपिक पर ब्लॉग लिखूं, पर लिखते लिखते आखिर में सही जगह पहुंच ही गया। इस ब्लॉग पर में खिचड़ी नहीं परोसना चाहता हूं, इसलिए बस Blogging, Money Making आइडिया और Hosting से जुड़े पोस्ट ही पब्लिश करना पसंद करता हूं। I'm not perfect, but try to gives you best Today & Tommorow.

Sharing is caring!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: