How to Full Setup Rank Math SEO Plug-ins In WordPress

Sharing is caring!

powerful seo plugin in wordpress

वर्डप्रेस में Rank Math SEO प्लगइन का यूज़ करना बहुत ही सुविधाजनक है, वैसे अगर आप इस तरह का कोई भी प्लगइन इस्तेमाल नहीं करते है, तो आपको अपने वेबसाइट का स्टेटस सही से पता नहीं चल पाएगा. अगर आप चाहे तो SEO Yoast या Rank Math का इस्तेमाल कर सकते है. यह बहुत पावरफुल फीचर provide कराता है, जिससे आप अपने साईट पर क्या सही हो रहा है या नहीं हो रहा है इस पर पूरी नजर रख सकते है.

चलिए हम बात करते है Rank Math SEO. यह फ्री प्लान और प्रीमियम दोनों आता है. वैसे फ्री प्लान भी कम नहीं है. यह आपके पोस्ट के length Score पर स्कोरिंग भी देता है

  • 600 वर्ड्स से कम – 0%
  • 600-100 वर्ड्स – 20%
  • 1000-1500 वर्ड्स – 40%
  • 1500-2000 वर्ड्स – 60%
  • 2000-2500 वर्ड्स – 70%
  • 2500 से ज्यादा वर्ड्स – 100%

Overview Of Rank Math

अब सवाल यह उठता है क्या इसे इनस्टॉल करना आसान है? हाँ इसे इनस्टॉल और configuration करने में अभी तक हमे कोई परेशानी नहीं आई है. मैं विश्वास से कह सकता हूँ आपके साथ भी कोई दिक्कत नहीं होगा.

Installation & Configuration

  • सबसे पहले वर्डप्रेस में लॉग इन कर ले, इसके बाद Admin Panel > Plugins > Add New > Rank Math. इसके बाद इसे इनस्टॉल करके एक्टिव कर ले.इसके बाद Rank Math को ओपन करके Setup Wizard पर क्लिक करे.

Dashboard

  1. Import & Export
  2. Setup Wizard
  3. Module
  4. HELP

Import & Export

अगर आपने इससे पहले कोई और seo plugin इस्तेमाल किया है जैसे – All in One SEO, SEO Yoast तब इसका preference भी save होता है। Rank Math को इंस्टॉल करने पर इसके सेटिंग्स को इंपोर्ट किया जा सकता है।

पर एक बात का ध्यान रहे एक समय में एक seo प्लगइन का इस्तेमाल करना चाहिए, नहीं तो गूगल crawler, crawal करते समय दिग्भ्रमित हो सकता है। इसलिए जब भी कोई नया seo प्लगइन यूज करने जा रहे है, तो पुराने को हटा दे।

इसी तरह rank math के preference को एक्सपोर्ट भी किया जा सकता है। जिसका इस्तेमाल बाद में इंपोर्ट करके अपलोड कर सकते है।

Setup Wizard

अब बारी है इसको सेटअप करने की। इसमें वेबसाइट से जुड़े इन्फॉर्मेशन, google console ऑथांटिकेट किया जाता है।

जब भी रैंक math को इंस्टॉल किया जाता है, तब डिफॉल्ट रूप से इसे configure करना पड़ता है और बाद में अगर कुछ कमी रह जाता है, वापस से configure किया जा सकता है।

Module

यह बहुत लंबा चौड़ा लिस्ट है इसे बाद में किसी और तरीके से discuss करेंगे।

Help

Seo से या Rank Math से जुड़े किसी भी तरह के सलाह के लिए Help में विजिट किया जा सकता है।

General Settings Or SEO Settings

  1. Links
  2. Images
  3. Breadcrumbs
  4. Webmaster Tools
  5. Edit robots.txt
  6. Edit .htaccess
  7. Others
  8. 404 Monitor
  9. Search Console
  10. Redirections

1 Links

Strip Category Base – स्ट्रिप का use किसी लिंक को छोटा और meaningful बनाने के लिए होता है। इसे दो ऑप्शन – On और Off है।

चलिए स्ट्रिप का example लेते है।

जब स्ट्रिप ऑफ हो।

https://yourdomain/category/categoryname

और जब स्ट्रिप on हो।

https://yourdomain/category-categoryname

Redirect Attachment – इस फंशन का use पुराने लिंक को नए लिंक पर भेजने के लिए किया जाता है। जब redirect option में जाएंगे तब इसके बारे में बात करेंगे।

Remove Stop words from permalinks – इसका इस्तेमाल स्टॉप वर्ड जैसे a, an, the जैसे शब्दों को हटाने।के लिए किया जाता है, क्योंकि इस तरह के वर्ड निगेटिव impression create करते है, इसलिए हटा देना बेहतर है।

इसे हटाने के लिए एक वर्ड लिस्ट बनता है, जिसे आप अपने permalink में add नहीं करना चाहते है।

Nofollow External Links – जब आप अपने पोस्ट या पेज में किसी और वेबसाइट का लिंक को जोड़ते है, तब गूगल बोट automatically इसे फॉलो करना शुरू कर देता है। आप चाहते है इसे नहीं फॉलो करना है, तो बस सेटिंग्स में जाकर on कर दीजिए, अगर करना है ट इसे ऑफ ही रहने दे।

Nofollow Image File Links – url की तरह एक इमेज का भी एक्सटर्नल लिंक ही सकता है, इसे भी फॉलो नहीं करना है , तो nofollow को on कर दे।

Nofollow Domains – अगर आप किसी के साइट या ब्लॉग को फॉलो नहीं कर चाहते है, उन सभी का लिस्ट बना सकते है। इसके लिए एक टेक्स्ट फिल्ड भी दिया गया है जहां लिस्ट तैयार कर सकते है।

Nofollow Exclude Domaims – इसमें भी लिस्ट बना सकते है, बस फर्क है इसमें जो भी डोमेन को एड किया जाएगा, उसे नोफॉलो नहीं किया जा सकता है। यह एक नोफोलो exception है बस।

Open External Links in New Tab/Window – आप अगर किसी यूआरएल को किसी नए टैब या विंडो में खोलना चाहते है तो उस सेटिंग्स का इस्तेमाल किया जा सकता है।

2 Images

Add missing ALT Attributes – आपको हमेशा seo एक्सपर्ट कहते होंगे इमेज बिना alt टैग का नहीं हो। पर अगर आपने इसके बिना ही इसे अटैच कर दिया है, तो rank math के alt tag missing फंक्शन को ओं कर सकते है। जो भी इमेज बिना इसके पब्लिश हुआ है, यह खुद से एक alt tag उसमे जोड़ देगा।

Alt attribute format – अल्ट टैग को जोड़ने के लिए एक फॉर्मेट बना सकते है।

Add missing TITLE attributes – alt टैग की तरह automatic रूप से इमेज टाइटल को भी add किया जा सकता है।

Title attribute format – टाइटल के लिए भी एक फॉर्मेट क्रिएट किया जा सकता है।

3 Breadcrumbs

दरअसल यह यूजर को यह जानने path के बारे में बताता है। जो भी यूजर एक्टिव है उसे यह जताने की कोशिश करता है कि वह अभी किस पेज या कैटेगरी पर है जहां वह कोई पोस्ट पढ़ रहा है। Path को दिखाने के लिए कोई सा भी character यूज किया जा सकता है जैसे -” -, _, >>, | “। और साथ ही इसे कहां दिखाना चाहते है, इसे भी hide show कर सकते है।

4 Webmaster Tools

जैसे कि हर नया या पुराना ब्लॉगर जानता है, बिना ब्लॉग को किसी साइट में जोड़े बिना indexing नहीं किया जा सकता है और खासकर इसे अगर गूगल कंसोल में नहीं जोड़ा तो आपका ब्लॉग कभी नहीं रैंक करेगा।

इसमें सभी सर्च वेबमस्टर के लिए एक seprate फील्ड बना है जहां html verification code या id को paste करके वेरिफाई किया जा सकता है।

इसे Google, Bing, Baidu, Alexa, Yandex, Pinterest aur Norton से जोड़ा जा सकता है।

5 Edit robots.txt

इसमें आपको कुछ करने की जरूरत नहीं सब rank math खुद से कर देगा।

6 Edit .htaccess

वैसे आपको इसमें कोई छेड़-छाड़ नहीं करना चाहिए, इसे आपके साइट को प्रॉब्लम हो सकता है। इसमें बस non www को www में redirect करने के लिए कॉड insert कर सकते है।

7 Others

Usage Tracking – इसे on करके यूजर के information को ट्रैक किया जा सकता है। जैसे – नाम और ईमेल एड्रेस।

Auto Update – Rank Math प्लगइन को ऑटो अपडेट करने के लिए ऑन कर दे।

Show SEO Score – क्या आप अपने पोस्ट में seo के स्कोर को दर्शाना चाहते है, तो इसे on कर दे। जब भी कोई visitor आपके ब्लॉग को पढ़ रहा होगा यूज इसके स्कोर दिखाई देगा। यह इस तरह का होगा 60/100 ।

और भी सेटिंग्स है इसके अंदर जिसे आप ही खोल कर देख ले।

8 404 Monitor

Mode – 404 कोड एरर को देखने के लिए इसके मोड को simple और advanced में चेंज किया जा सकता है।

Log Limit – एरर log फाइल को आप एक बार में कितने row तक डिस्प्ले करना चाहते है इसे सेट कर सकते है। जब इसे 0 सेट करेगे तब यह डिसेबल हो, इसे enable करने के लिए 0 से ऊपर रखे। इसके साथ ही इसके path को जोड़ा जा सकता है जिसे ट्रैक नहीं करना है और कुछ query parameter को इग्नोर भी किया जा सकता है।

9 Search Console

स्पेशली गूगल के वेब मास्टर को वेरिफाई करने के लिए और साथ ही cache file को लिमिट कर सकता किया का सकता है।

10 Redirections

Debug Redirections – यह यूआरएल के debug को रिडायेक्ट करता है। Debug से मतलब है एडिट किया गए यूआरएल को।

Fallback Behavior – किसी यूआरएल को किस तरह से आप redirect करना चाहते है। 404 एरर मतलब पेज को डिलीट या हटाया जा चुका है, Homepage रेडायेक्ट, मतलब सभी को ब्लॉग के होमपेज पर ही जाना है या Custom Redirect एक पेज को किसी खास पेज पर।

Redirection Type

301 – इसका मतलब है पेज या पोस्ट को पूरी तरह से एक location से दूसरे लोकेशन पर मूव किया जा चुका है।

302 – पेज को कुछ समय के लिए मूव किया गया है।

307 – कंटेंट को कुछ समय के लिए दूसरे लोकेशन पर भेजा गया है।

410 – कंटेंट को पूरी तरह से डिलीट किया का चुका है।

451 – कंटेंट को किसी लीगल purpose के लिए हटा दिया गया है और यह तब होता है जब कंटेंट एडल्ट, कॉपीराइट, भड़काने वाला होता है।

SEO Titles & Meta

  1. Global Meta
  2. Local SEO
  3. Social Meta
  4. Homepage
  5. Post Formats
  6. Authors
  7. Misc Pages
  8. Posts
  9. Pages
  10. Media
  11. Legal Pages
  12. Categories
  13. Tags

1 Global Meta

Robots Meta – आप किसी पेज पोस्ट के साथ किस तरह का बर्ताव करना चाहते है जैसे इसे Non Indexing करना, Non Following, No Archive, No Image Index करना शामिल है।

Advanced Robots Meta – यह एक एडवांस रोबोट txt तकनीक है।

Noindex Empty Category and Tag Archives – कई बार यह होता है नया ब्लॉग कई सारे कैटेगरी और टैग बना देते है, पर उसमें कोई भी पोस्ट नहीं डाला गया है। होता क्या है क्रॉलर पोस्ट पेज के साथ empty कैटेगरी और टैग को भी इंडेक्स कर लेता है और कोई कंटेंट नहीं found करने पर रैंक डाउन कर देता है।

अगर आप चाहे तो खाली कैटेगरी और टैग को बस एक सेटिंग्स से स्किप कर सकते है।

2 Local SEO

इस तरह का seo का मतलब है अपने कंपनी या खुद के बारे में बताना। इसे आप अपने होम एड्रेस या फोन को visible करके भी कर सकते है।

3 Social Meta

इसमें आप अपने सोशल मीडिया फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब, लिंक्डइन को जोड़ सकते है, जिससे आपका ब्लॉग जल्दी पॉपुलर हो सकता है।

4 Homepage

जैसे आप अपने वेबसाइट का meta name और description लिखते है ठीक उसी प्रकार होम या फ्रंट पेज का meta नेम और डिटेल्स लिखा जा सकता है।

5 Post Format

अपने पोस्ट को इसमें खुद के अनुसार फॉर्मेट किया जा सकता है।

6 Authors

इसमें साइट या ब्लॉग का author से संबंधित information को सेटअप कर सकते है।

7 Misc Pages

main पोस्ट और पेज के अलावा जो भी पेजेस होता है इसमें उसे मैनेज करना पड़ता है।

8 Posts

पोस्ट से जुड़े सारे इन्फॉर्मेशन जैसे पोस्ट टाइटल, हेडिंग, इसका description और साथ ही लिंक, seo को सेट किया जाता है।

9 Pages

जैसे पोस्ट को सेटअप करते है, इसमें पेज को सेटअप कर सकते है।

10 Media

इसमें इमेज और वीडियो को indexing करने या ना करने के लिए सेटअप किया जाता है।

11 Legal Pages

लीगल पेज जैसे प्राइवेसी पॉलिसी, अबाउट, टर्म एंड कंडीशन पेज को मैनेज करना।

12 Categories

इसमें भी मेटा टैग, रोबोट टैग और साथ ही कैटेगरी का डिस्क्रिप्शन भी लिखा हा सकता है।

13 Tags

ठीक कैटेगरी के अनुसार।

इसके अलावा रैंक math में साइट को एनालिसिस करने का भी ऑप्शन दिया गया है।

निष्कर्ष

इसे और लिखा जा सकता है पर मैंने कुछ बुनियादी इन्फॉर्मेशन को ही कलेक्ट करने के लिए लिखा है। बेहतर होगा इसे खुद इस्तेमाल करके सीखा जाए। वैसे मैंने इसे अब तक इंस्टॉल कर रखा है क्योंकि यह बहुत अच्छा है और हर तरह के एरर को यह मैसेज करके बतलाता है जिससे कोई भी दिक्कत ही जल्दी से ठीक किया जा सकता है।

तो seo टूल से जुड़ा पोस्ट आपको कैसा लगा है हमे कॉमेंट करके जरूर बताएं। साथ ही इसे शेयर भी करे और सब्सक्राइब भी। अगर इस पोस्ट में कुछ और सुधार कि जरूरत है तो हमे कॉमेंट करके जरूर इनफॉर्म कर दे, ताकि मैं इसमें कुछ और सुधार करने की पूरी कोशिश करूं।

पढ़ने के लिए धन्यवाद। मिलते है अगले पोस्ट में।


Saroj Alam

हलो, मैं सरोज आलम, www.broodhome.com का चीफ एडिटर और फाउंडर। As a beginners मैं परेशान था, आखिर मैं किस टॉपिक पर ब्लॉग लिखूं, पर लिखते लिखते आखिर में सही जगह पहुंच ही गया। इस ब्लॉग पर में खिचड़ी नहीं परोसना चाहता हूं, इसलिए बस Blogging, Money Making आइडिया और Hosting से जुड़े पोस्ट ही पब्लिश करना पसंद करता हूं। I'm not perfect, but try to gives you best Today & Tommorow.

Sharing is caring!

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

%d bloggers like this: